Mother's Day Special Song


अपना नया मदर्स डे स्पेशल गाना- तुम ख़ास हो। ये गाना मेरे लिए दो वजहों से ख़ास है। एक, क्यूँ कि माँ के लिए है। दूसरी बात, मैंने गाने में एक मुख़्तर सी नज़्म का इस्तेमाल किया है। सुनिए, शेयर कीजिए। आप सबको मदर्स डे मुबारक हो...

मुखड़ा-

जब भी कभी दिल डर गया

ऐसा लगा दिल मर गया

तुमने ही उंगली थामी थी माँ

मुझको दिया था हौसला

तुम पास थी तुम पास हो

एहसास ये मुझे अब हुआ

तुम ख़ास थी तुम ख़ास हो

तुम ख़ास हो तुम ख़ास हो

नज़्म-

सुबह जब सो के उठता था

तो कॉफ़ी गर्म मिलती थी

नहा कर लौटने से पहले ही

उस डायनिंग टेबल पर रखा ब्रेकफास्ट होता है

मेरे कपड़े हमेशा प्रेस ही रहते थे

मेरी छोटी-बड़ी ग़लती नज़रअंदाज़ होती थी

कभी सोचा नहीं मैंने कि ये सब कौन करता है

मुझे लगता था सारे काम अपने आप होते हैं

मगर अब सोचता हूँ मैं

कि मेरे वास्ते तुम ज़िंदगी क़ुर्बान करती थीं

मेरे जीने की ख़ातिर

तुम ही तो हर रोज़ मरती थीं

अंतरा-

क्या पता मुझे क्या ख़बर मेरी ज़िंदगी

राह में नया रंग क्या दिखलाएगी

कैसे कहूँ जीना बड़ा मुश्किल है

तुमसे ही अब ज़िंदा मेरा ये दिल है

तुम आस थी तुम आस हो

एहसास ये मुझे अब हुआ

तुम ख़ास थी तुम ख़ास हो

तुम ख़ास हो तुम ख़ास हो

#त्रिपुरारि

Featured Posts
Recent Posts
Archive
Search By Tags